चर्चा मंच पर सप्ताह में तीन दिन (रविवार,मंगलवार और बृहस्पतिवार)

को ही चर्चा होगी।

रविवार के चर्चाकार डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक,

मंगलवार के चर्चाकार

श्री दिनेश चन्द्र गुप्ता रविकर

और बृहस्पतिवार के चर्चाकार श्री दिलबाग विर्क होंगे।

समर्थक

Thursday, January 01, 2015

नव वर्ष ( चर्चा - 1845 )

आज की चर्चा में आप सबका हार्दिक स्वागत है 
ब्लॉग जगत के सभी साथियों को चर्चा मंच परिवार की तरफ से नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ । भले ही यह नव वर्ष भारतीय कलैंडर अनुसार नहीं और हर दिन नया दिन होता है फिर भी इस अवसर को ख़ुशी के साथ मनाया जा  सकता है क्योंकि नव वर्ष मनाने का अर्थ है कि बीते समय का मूल्यांकन करें और आगे के लिए कुछ संकल्प लें । यह यूं तो कभी भी किया जा सकता है लेकिन खास तिथि से यह ज्यादा सुगम लगता है । एक जनवरी को हम इसी संदर्भ में देख सकते हैं, तो आइए नए वर्ष में कुछ नए स्वप्न बुने और इन्हें पूरा करने के लिए कोई कार्यक्रम बनाएँ । 
नए वर्ष की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ चलते हैं वर्ष 2015 की प्रथम चर्चा की ओर
My Photo
My Photo
My Photo
मंगल प्रभात मित्रों !
बयान दर्ज है - [ नशा दूर कर देता है परिवार व समाज दोनों से ]
****
उन आँखों को ख्वाब दे दो
कदमों को जूते जुराब दे दो- 
प्यासे होठों को आब दे दो 
जो बेखबर है आवाज दे दो -
नुमाईस न हो कोई आबरू 
आँचल दे दो ,नकाब दे दो -
मुश्किल से उठाता है सिर 
फरियादी को हिसाब दे दो -
न दे सकते हो मरहम तो 
उदय जख्मों को जवाब दे दो -

उदय वीर सिंह
My Photo
धन्यवाद 

11 comments:

  1. आभार आदरणीय दिलबाग विर्क जी।
    --
    इस नये वर्ष में आप हर्षित रहें,
    ख्याति-यश में सदा आप चर्चित रहें।
    मन के उपवन में महकें सुगन्धित सुमन,
    राष्ट्र के यज्ञ में आप अर्पित रहें।।

    ReplyDelete
  2. नव वर्ष पर सार्थक चर्चा प्रस्तुति मेरी पोस्ट को नए शीर्षक "कुछ सबक" के साथ स्थान देने हेतु आभार!
    आपको और सभी चर्चाकारों को नए साल की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  3. उत्तम चर्चा ...नव वर्ष की सभी को ढेर सारी शुभकामनायें !!मेरी रचना को साथन दिया ,हृदय से आभार दिलबाग जी !!

    ReplyDelete
  4. मंगलमय नव वर्ष हो ।
    सरस्वती की हो कृपा, लक्ष्मी रहे उदार ।
    माँ दुर्गा की शक्ति से, होवे बेडा पार ।
    चारित्रिक उत्कर्ष हो ।
    मंगलमय नव वर्ष हो ॥

    ReplyDelete
  5. सुंदर चर्चा।
    स्थान देने के लिए आभार।
    आप सबको नववर्ष कि हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  6. आज समस्त चर्चामंच के सदस्यों को नूतन वर्ष के लिए हार्दिक शुभ कामनाए|
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार दिलबाग विर्क जी |

    ReplyDelete
  7. चर्चामंच के सभी सदस्यों को नव वर्ष की ढेरों शुभकामनाएँ.....बहुत सुन्दर पठनीय लिंक्स ..मेरी रचना को स्थान देने के लिए सादर आभार आदरणीय विर्क जी ..

    ReplyDelete
  8. सुंदर प्रस्तुति दिलबाग । नव वर्ष की शुभकामनाऐं ।

    ReplyDelete
  9. बेहतरीन लिंक्स, मेरा लिंक शामिल करने के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  10. charcha manch ke sabhi charchaakaron ko tahe-dil se naye saal kiii shubhkamnayen.
    Bahut mehnat se aap sabhi is kram ko jaari rakhe hain.Bahut badi baat hai.
    Ishwar aap ko hamesha yun hi urjavaan banaaye rakhe.
    Best wishes,Alpana

    ReplyDelete

"चर्चामंच - हिंदी चिट्ठों का सूत्रधार" पर

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथा सम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin